Saturday, April 30, 2011

EK CHOTI SI LADKI

Hey friends being a girl..its a responsibility of me to save the girl child..here i m writing some thing about it..some things comes in my thoughts..i hope u will like it..and please spread it across the country as much as u can..post it on the social sites..

एक छोटी सी लड़की 

एक छोटी सी लड़की अज कल मेरे सपनो में आती है, 
अपनी कहानी चुपके से मेरे कानो में सुनती है,
रोती है,सिसकती है,बिलबिलाती है,
अपने होना का मकसद,जरुरत मझे बताती है,
पर मै चुप हूँ,क्या कहू उससे ये समझ नही पाती हूँ 
वो शिकायत करती है,इस दुनिया से,लोगो से,समाज से..
क्यूँ अपनी ही जिंदगी जीने का हक भी वो नही पाती है,
क्यों उस मासूम से चेहरे की हत्या क्र दी जाती है,
यही सवाल,वो दुनिया से,समाज से पूछना चाहती है,
क्यों इस बर्बर समझ को जरा भी दया नही आती है,
क्यों इतने सारे जुल्म वो अकेले ही सहती जाती है,
क्यों अपने हक की लडाई भी वो नही पाती है,
वो लड़की मेरे नही अप सभी के ख्यालो में आती है,
सवाल आप सब से भी यही दोहराती है, 
पर जवाब देने से आप पीछे हट जाते है.
क्युकि आप सभी को नींद बहुत आती है,
एक छोटी सी लड़की....!!!





Suchita yadav.....

2 comments: