Sunday, December 9, 2012

तुम साथ साथ चलना...!!!

तुम साथ साथ चलना ,
मैं साथ में चलूंगी,
तुम देना सहारा मुझको,
मैं हाथ थाम लूंगी,
तेरे दिल की धडकनों पे,
मैं दस्तख़त करूँगी,
तेरी रातों की तन्हाईयों की,
मैं हमसफ़र बनूँगी,
चलना कभी अकेले ,
तेरी परछाईं  मैं बनूँगी 
आँखें जो बंद करना,
सपना मैं ही दिखूंगी,
मेरी हर दुआ में शामिल,
तेरी दुआएं होंगी,
कभी होगा अगर अकेला तो ,
मेरे शब्दों का साथ होगा,
तेरी आँखों  से अब कभी ना,
आंसुओं की बरसात होगी
तुम साथ साथ चलना ,
मैं साथ में चलूंगी,
तुम देना सहारा मुझको,
मैं हाथ थाम लूंगी...!!!!

No comments:

Post a Comment