Monday, November 3, 2014

हमको भी यूं प्यार हुआ था

एक हँसी इक़रार हुआ था,
हमको भी यूं प्यार हुआ था
अंधेरे थे तब जीवन में,
फिर रोशन घर बार हुआ था,
खुशियों मे कोई कमी नहीं थी,
पर आँसुओं का भी दीदार हुआ था,
रब से कुछ माँगा जो मैने,
पहली दुआं वो मेरा यार हुआ था,
मुह से लफ्ज़ नहीं निकले थे,
पर आँखों मे पत्राचार हुआ था,
एक हसीन इकरार हुआ था,

और हमको भी यूं प्यार हुआ था …!!

No comments:

Post a Comment